logo_banner
Breaking
  • ⁕ लालू यादव के तंज पर भाजपा नेताओं ने दिया उत्तर, अपने बायो में लिखा ‘मोदी का परिवार’ ⁕
  • ⁕ गडकरी को लेकर उद्धव का भाजपा पर हमला, कहा- निष्ठावान कार्यकर्ता को छोड़ अचूक संपत्ति जमा करने वाले का नाम किया घोषित ⁕
  • ⁕ Chandrapur: तिहरे हत्याकांड से दहला नागभीड, पति ने पत्नी और दो बेटियों को उतारा मौत के घाट ⁕
  • ⁕ Akola: पत्नी ने की पति की हत्या, पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार ⁕
  • ⁕ भाजपा में शामिल होंगी नवनीत राणा! सांसद बोली- सही समय पर होगा सही फैसला ⁕
  • ⁕ अमित शाह के दौरे पर विजय वडेट्टीवार का हमला, कहा- कार्यकर्ताओं का नहीं जनता का समर्थन मिलना चाहिए ⁕
  • ⁕ उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को जान से मारने की धमकी देने वाले किंचक नवले हुआ गिरफ्तार, अदालत ने न्यायिक हिरासत में भेजा ⁕
  • ⁕ चंद्रपुर- नदी में खेखड़े पकड़ने गए तीन बच्चों की डूबने से मौत हुई ⁕
UCN News
UCN Entertainment
UCN INFO
Yavatmal

वर्धा-कलंब मार्ग पर जल्द दौड़ेगी पैसेंजर, रेलवे ने शेड्यूल किया जारी


यवतमाल: बहुप्रतीक्षित वर्धा-यवतमाल-नांदेड़ रेलवे लाइन वर्धा से कलंब तक पूरी हो गई है। रेलवे प्रशासन हर हाल में लोकसभा चुनाव से पहले इस रूट पर ट्रेन शुरू करने की तैयारी में है. चर्चा है कि इस लाइन का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। वहीं अब वर्धा से कलंब रूट पर पैसेंजर ट्रेन शुरू करने का फैसले के साथ रेलवे बोर्ड ने शेड्यूल भी जारी कर दिया है.

विदर्भ सहित मराठवाड़ा को विकास के पथ पर लाने के लिए यह रेलवे परियोजना पिछले 15 वर्षों से चल रही है। पिछले पांच वर्षों में यह महत्वाकांक्षा परवान चढ़ी है.

खास बात यह है कि 60 फीसदी केंद्र सरकार और 40 फीसदी राज्य सरकार के फंड से तैयार होने वाले इस रेलवे प्रोजेक्ट का काम तेज हो गया है. वर्धा-यवतमाल-नांदेड़ 284.65 किमी का मार्ग है। इसमें से वर्धा से कलंब मार्ग का 38.61 किलोमीटर का हिस्सा पूरा हो चुका है, जबकि शेष 246.5 किमी कलंब-नांदेड़ मार्ग पर काम जोरों पर है।

इस मार्ग पर 80 प्रमुख पुलों में से 32 पूरे हो चुके हैं, जबकि रोड ओवर बीज़ के 43 कार्य प्रगति पर हैं। इस मार्ग पर आठ किमी लंबी छह सुरंगों पर भी काम चल रहा है।

इस बीच रेलवे प्रशासन की ओर से पैकेज-1 और 2 के तहत काम पूरा कर मार्च के अंत तक यवतमाल तक रेल शुरू करने की कोशिश की जा रही है. हाल ही में पेश किए गए बजट में केंद्र सरकार ने इस प्रोजेक्ट के लिए 750 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं.