logo_banner
Breaking
  • ⁕ लालू यादव के तंज पर भाजपा नेताओं ने दिया उत्तर, अपने बायो में लिखा ‘मोदी का परिवार’ ⁕
  • ⁕ गडकरी को लेकर उद्धव का भाजपा पर हमला, कहा- निष्ठावान कार्यकर्ता को छोड़ अचूक संपत्ति जमा करने वाले का नाम किया घोषित ⁕
  • ⁕ Chandrapur: तिहरे हत्याकांड से दहला नागभीड, पति ने पत्नी और दो बेटियों को उतारा मौत के घाट ⁕
  • ⁕ Akola: पत्नी ने की पति की हत्या, पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार ⁕
  • ⁕ भाजपा में शामिल होंगी नवनीत राणा! सांसद बोली- सही समय पर होगा सही फैसला ⁕
  • ⁕ अमित शाह के दौरे पर विजय वडेट्टीवार का हमला, कहा- कार्यकर्ताओं का नहीं जनता का समर्थन मिलना चाहिए ⁕
  • ⁕ उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को जान से मारने की धमकी देने वाले किंचक नवले हुआ गिरफ्तार, अदालत ने न्यायिक हिरासत में भेजा ⁕
  • ⁕ चंद्रपुर- नदी में खेखड़े पकड़ने गए तीन बच्चों की डूबने से मौत हुई ⁕
UCN News
UCN Entertainment
UCN INFO
Maharashtra

आंगनवाड़ी सेविकाओं को लागू होगी पेंशन योजना, राज्य सरकार ले सकती है बड़ा निर्णय


नागपुर: राज्य में बीते तीन महीने से आँगनवाड़ी सेविकाएं आंदोलन कर रही है। मानधन बढ़ाने, ऑनलाइन काम, ग्रेज्युटी देने सहित विविध मांग कर रही है। हालांकि, राज्य सरकार कई मांगे मन चुकी है, लेकिन कई मांगे अभी भी नहीं मानी गई हैं। इसको लेकर आंगनवाड़ी सेविकाओं का आंदोलन जारी है। आंदोलन को देखते हुए राज्य सरकार बड़ा निर्णय ले सकती है। मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार, सरकार सेविकाओं को पेंशन लागू करने वाली है।

खबरों की मानें तो राज्य सरकार आंगनबाडी कार्यकर्ताओं के लिए बड़ी खुशखबरी देने की तैयारी में है। माना जा रहा है कि आंगनबाडी कार्यकर्ताओं के हड़ताल करने के बाद सरकार बड़ा फैसला लेने की तैयारी में है। जिसके तहत आंगनबाडी कार्यकर्ताओं को ग्रजुएटी के साथ ही पेंशन भी लागू की जाएगी। सूत्रों की माने तो कार्मिक विभागआंगनबाडी कार्यकर्ताओं को दी जाने वाली पेंशन की राशि पर विचार-विमर्श कर रहा है। यानि नहीं आने वाले कैबिनेट बैठक में इसको लेकर महिला और बाल कल्याण विभाग प्रस्ताव भी पेश करेगा।

दो लाख कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं को फायदा 

यदि यह निर्णय लिया जाता है, तो राज्य में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं को 1 लाख 55 हजार से 1 लाख 76 हजार तक ग्रेच्युटी मिलने की संभावना है। प्रदेश में वर्तमान में 2 लाख आंगनबाडी कार्यकर्ता एवं सहायिकाएं हैं। इनमें 1 लाख 10 हजार आंगनबाडी कार्यकर्ताओं और 90 हजार सहायिकाओं को पेंशन योजना और ग्रेच्युटी का लाभ मिलेगा।